NEWS DIGGY

news diggy

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने झूठी गवाही देने और अदालतों में झूठे हलफनामे दाखिल करने के लिए सीबीआई

अरविंद केजरीवाल

आबकारी मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को केंद्रीय जांच ब्यूरो ने 16 अप्रैल को हाजिर होने के लिए समन जारी किया गया हैं।

 

आबकारी मामले के चलते रविवार को हाजिर होंगे केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 15 अप्रैल, 2023 को कहा कि वह सीबीआई और ईडी के अधिकारियों पर कथित झूठी गवाही देने और अदालतों में झूठे हलफनामे दाखिल करने के लिए मुकदमा करेंगे।केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने इस मामले में आप नेता को रविवार को तलब किया हैअधिकारियों ने बताया कि उन्हें जांच दल के सवालों का जवाब देने के लिए पूर्वाह्न 11 बजे एजेंसी मुख्यालय में उपस्थित होने को कहा गया है।

 

केंद्रीय जांच एजेंसी इस मामले में दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है

 

सीबीआई और ईडी पर झूठे हलफनामे दाखिल करने का लगाया आरोप 

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए अरविंद केजरीवाल ने बताया कि केंद्रीय जांच एजेंसियों पर अदालतों में झूठे हलफनामे दाखिल करने का आरोप लगाया। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि उनकी पार्टी सीबीआई और ईडी पर झूठे हलफनामें दाखिल करने के लिए केस जरूर करेंगे।

 

ये भी पढ़े: दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और स्वस्थ मंत्री सत्येंद्र जैन ने पार्टी से दिया इस्तीफा

 

इससे पहले, मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अपने आरोपपत्र में कहा था कि पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने 14 फोन नष्ट किए और इन फोनों के आईएमईआई नंबर भी दस्तावेजों में शामिल हैं। वे झूठे हलफनामे दाखिल कर अदालत को गुमराह कर रहे हैं। केजरीवाल ने आगे प्रधानमंत्री मोदी को भी छोड़ा। उन्होंने मोदी को भ्रष्ट बताते हुए कहा कि ये एजेंसियां बीजेपी के इशारे पर काम कर रही हैं और अगर बीजेपी ने सीबीआई को कोई निर्देश दिया हैं तो सीबीआई कैसे ताल सकती हैं।

 

शारीरिक और मानसिक चोट पहुंचा रही हैं एजेंसियां- केजरीवाल 

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने आगे बताया कि लोगों से मेरा और सिसोदिया का गलत नाम लेने के लिए कहा जा रहा है।सीबीआई और ईडी के लोग झूठे बयान निकालने के लिए थर्ड डिग्री, मानसिक प्रताड़ना और शारीरिक प्रताड़ना का सहारा लेती हैं। केजरीवाल ने बताया कि समीर महेंद्रू और अरुण पिल्लई को भी इसी तरह प्रताड़ित किया गया है।

 

गोवा में हुई अरविंद केजरीवाल के खिलाफ एफआइआर

गोवा पुलिस ने गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सार्वजनिक संपत्ति को कथित रूप से खराब करने के मामले में 27 अप्रैल को पूछताछ के लिए समन जारी किया। पेरनेम पुलिस स्टेशन के जांच अधिकारी दिलीपकुमार हलारंकर ने लिखित समन नोटिस में बाद के आधारों का उल्लेख किया है जिसमें प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) दर्ज की गई है।